अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत विभाग, उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विकास अभिकरण

निर्वाध विधुत आपूर्ति हेतु प्रायः निजी ⁄ सरकारी भवनों‚ औधोगिक प्रतिष्ठानों एवं वाणिज्य प्रतिष्ठान भवनों से डी़०जी०सेट का उपयोग किया जाता है। यह डी०जी०सेट किलोवाट क्षमता से लेकर मेगावाट क्षमता के होते है। ऐसे भवनों की छतों पर रूफटॉप सोलर फोटोवोल्टाइक पावर प्लान्ट्स की स्थापना कराये जाने की दशा में इन सयंत्रों से उत्पादित ऊर्जा का उपयोग बिल्डिंग में उपभोक्ताओं द्वारा किया जा सकता है तथा सरप्लस ऊर्जा होने कि दशा में उक्त को ग्रिड में इंजेक्ट किया जा सकता है।

ग्रिड संयोजित रूफटॉप सोलर पीवी पावर प्लाण्ट से नेट मीटरिंग के आधार पर कार्य कर सकते है। उपभोक्ताओं द्वारा डिस्कॉम को नेट मीटर रीडिंग के अनुसार भुगतान किया जा सकता है।

व्यक्तिगत‚ संस्थागत तथा सरकारी भवनों में रूफटाप सोलर पावर प्लाण्ट की स्थापना हेतु प्रदेश की रूफटाप सोलर पावर प्लाण्ट नीति वर्ष 2014–15 में प्रख्यापित की गयी है। नीति की संचालन अवधि मार्च 2017 तक कुल 20 मेगावाट क्षमता की ग्रिड संयोजित सोलर पावर प्लाण्ट की स्थापना लक्षित है।

प्रदेश सरकार द्वारा कैपटिव उपयोगार्थ ⁄ स्वयं के उपभोग हेतु ग्रिड संयाजित रूफटाप सोलर फोटोवोल्टाईक पावर प्लाण्ट की स्थापना को बढ़ावा दिया जायेगा। यह रूफटाप सोलर पावर प्लाण्ट नेट इनर्जी मीटरिंग ⁄ नेट इनर्जी बिलिंग क्रिया विधि पर आधारित होगी।

सरकारी ⁄ सार्वजनिक संस्थानों द्वारा अपने वार्षिक विधुत खपत का कुछ प्रतिशत की पूर्ति के लिए रूफटाप सोलर फोटोवोल्टाईक पावर प्लाण्ट की स्थापना करायी जायेगी और सोलर पावर प्लाण्ट से उत्पादित विधुत का स्वंय उपभोग किया जायेगा।

सरकारी ⁄ सार्वजनिक संस्थानों द्वारा आवश्यक रूप से अपने कार्यालय भवन के उपलब्ध कुर्सी क्षेत्रफल के न्यूनतम 25 प्रतिशत क्षेत्रफल का उपयोग रूफटाप सोलर फोटोवोल्टाईक पावर प्लाण्ट की स्थापना के लिए किया जायेगा।

इलाहाबाद‚ कानपुर एवं लखनऊ में स्थित सरकारी भवनों का रूफटाप सोलर पावर प्लाण्ट स्थापित करने हेतु सर्वेक्षण किया गया है। सरकारी भवनों में पावर प्लाण्ट स्थापित किये जाने हेतु एवं निजी भवनों में सोलर पावर प्लाण्ट की स्थापना के लिए बेंचमार्क दरें निर्धारित करने हेतु बिडिंग के माध्यम से फर्मों को इम्पैनल किया जायेगा।

उ़०प्र० विधुत नियामक आयोग को रेग्यूलेशन अनुमोदित करने हेतु प्रस्ताव प्रेषित किया गया है।

सौर तापीय संयंत्र में सोलर कुकर एवं सोलर वाटर हीटर प्रमुख हैं।
अधिक जानकारी......

हिन्दी
twitter Facebook
Back To Top